शौक को बनाया अपना रोजगार और कमाई लाखों रुपए

बेरोजगारी एक ऐसा शब्द जो हर युवा की जिन्दगी में एक बार या कई बार भी आता है कुछ युवा दूसरे की नौकरी करने के लिए दिन-रात काम की तलाश में लगा रहता है तो वहीँ कई ऐसे युवा भी होते हैं जो किसी की नौकरी न करने की ठान कर खुद का कुछ काम शुरू कर देते हैं भले ही वह छोटे स्तर से हो,  आज देश में बेरोजगारी इतनी है की युवा पीढ़ी हाथों में डिग्री लेकर काम की तलाश में लगे हैं सरकार भी इस बेरोजगारी को दूर करने में एक तरह से नाकामयाब नजर आता है.

दोस्तों आज के TIME पर रोजगार ढूंढने से अच्छा छोटे स्तर पर अपना कुछ करना अच्छा होता है अगर आप सोंचते हैं की मुझे कौन सा कार्य करना चाहिए तो ऐसे कई IDEA हैं जिसे देखकर और उसे अपनाकर आप भी SUCCESS हो सकते हैं

Image result for खरगोश

अगर फिर भी आपको खुद के आइडिया पर DOUBT है तो ऐसे कई लोगों के INSPIRATION STORY हैं जिसे पढ़कर उसके अनुभव के आधार पर आप भी छोटे स्तर से अपना कुछ कार्य कर सकते हैं

मैं आपको एक ऐसे ही शख्स की SUCCESS STORY बताने वाला हूँ जिसने अपने शौक को अपनाकर उसे रोजगार में तब्दील कर दिया संजय कुमार (35 वर्ष) जिसे बचपन से ही खरगोश पालने का शौक था उन्होंने अपने इसी शौक को रोजगार के रूप में तब्दील करने के बारे में सोंचा और उन्होंने शुरुआत में करीब 100 खरगोश से अपने व्यवसाय की शुरुआत कर दिया आज संजय के पास हरियाणा के जींद जिले के रोहतक रोड बाईपास पर करीब आधा एकड़ जमीन पर रैबिट फार्म है संजय का यह फार्म प्रदेश का पहला रैबिट फार्म है।

इस समय संजय के पास 6 नस्ल के करीब 500 खरगोश है और इनसे वे करीब 7-8 लाख रुपए वार्षिक कमा लेते हैं संजय ने एक इंटरव्यू में बताया की खरगोश पालन व्यवसाय को एक यूनिट में शुरु किया जा सकता है। एक युनिट में 7 मादा और 3 नर खरगोश होते हैं।

            PHOTO SOURCE : GAONCONNECTION

10 युनिट से फार्मिंग शुरू करने के लिए लगभग 4 से 4.5 लाख रुपए खर्च आता है। इसमें टिन शेड लगभग 1 से 1.5 लाख रुपए, पिंजरे 1 से 1.25लाख रुपए, चारा और इन युनिट्स पर लगभग 2 लाख रुपए खर्च शामिल है।

10 यूनिट खरगोश से 45 दिनों में तैयार हुआ बच्चों का बैच लगभग 2 लाख रुपए में बिकता है। इन्हें फार्म ब्रीडिंग, मीट लिए बेचते हैं। एक मादा खरगोश सालभर में कम से कम से कम 7 बार प्रेग्नेंट होती है। लेकिन, यदि हम मोर्टालिटी, बीमारी आदि सभी कोध्यान में रखकर औसतन 5 प्रेग्नेंसी पीरियड भी मान लें तो साल भर में 10 लाख रुपए के खरगोश बिक जाते हैं, जबकि, चारे पर खर्च 2से 3 लाख भी मान लें तो 7 लाख रुपए शुद्ध इनकम होती है।

इस पालन की खासियत यह है की खरगोश को पत्ते, बची हुईं सब्जियां और चने खिलाए जा सकते हैं, खरगोश पालन कम निवेश और छोटी जगह में अधिक आय देने वाला व्यवसाय है। अन्य मांस की तुलना करने पर खरगोश के मीट में उच्च प्रोटीन (21 फीसदी)और कम वसा (8 फीसदी) होता है। इसलिए यह मांस सभी उम्र के लोगों, बच्चों से लेकर वयस्क तक के लिए होता है।

दुनिया में ऐसे कई लोग मिल जाएँगे जिन्होंने छोटे स्तर से एक व्यवसाय की शुरुआत कर आज उसे बड़ा बना लिया है अगर आप नजर उठाकर देखेंगे तो कई ऐसे आइडिया दिखेंगे जिसे अपनाकर आप भी खुद का रोजगार शुरू कर सकते हैं नहीं तो चलते रही औरों की तरह ! GOOD DAY….

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *